WhatsApp Se Wyapaar: वॉट्सऐप से बढ़ेगा आपका बिजनेस, 1 करोड़ ट्रेडर्स को डिजिटल बनाएंगे Meta और CAIT

By Top Hindustan

Published on:

Follow Us
---Advertisement---

अमेरिकी कंपनी मेटा ने सोमवार को कहा कि वो ‘वॉट्सऐप से व्यापार’ पहल का विस्तार कर रही है. दिग्गज टेक कंपनी कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के साथ मिलकर 1 करोड़ लोक ट्रेडर्स को डिजिल बनाएगी. CAIT और ग्लोबल टेक कंपनी मेटा के मालिकाना हक वाला इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पार्टनरशिप के तहत काम करेंगे. दोनों साथ मिलकर देश में 1 करोड़ लोकल व्यापारियों को डिजिटल रूप से प्रशिक्षित और स्किल्ड करेंगे.

इस साझेदारी का लक्ष्य लोकलाइज डिजिटाइजेशन के जरिए छोटे बिजनेस में अवसरों को बढ़ाना है. सभी 29 राज्यों में 11 भाषाओं के साथ हाइपर-लोकल डिजिटल ट्रेनिंग के जरिए ऐसा किया जाएगा. यह साझेदारी 17 शहरों के 10 लाख व्यापारियों को 29 राज्यों के 1 करोड़ व्यापारियों को प्रशिक्षित करने पर बेस्ड है.

वर्कशॉप में मिलेगी ट्रेनिंग

वॉट्सऐप ने कहा कि CAIT एक वर्कशॉप सीरीज चलाएगी जिसमें ट्रेडर्स को डिजिटल और स्किल ट्रेनिंग दी जाएगी. CAIT के पास देश भर में 40,000 ट्रेड एसोसिएशन और 8 करोड़ ट्रेडर्स का जबरदस्त नेटवर्क है. वर्कशॉप में बताया जाएगा कि छोटे-मझोले दुकानदार और ट्रेडर्स अपने बिजनेस को कैसे डिजिटल बना सकते हैं.

WhatsApp Business App से बढ़ेगा बिजनेस

उन्हें वॉट्सऐप बिजनेस ऐप पर अपनी ‘डिजिटल दुकान’ खोलने की जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा स्टोर को डिजिटल बनाने का तरीका बताया जाएगा. वर्कशॉप में भाग लेने वाले ट्रेडर्स को ऐप के फीचर्स और टूल के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा.

वॉट्सऐप बिजनेस ऐप के कैटलॉग, क्विक रिप्लाई और क्लिक टू वॉट्सऐप ऐड्स जैसे फीचर्स का इस्तेमाल करने का तरीका बताया जाएगा. इससे छोटे व्यापारियों की पहुंच ज्यादा से ज्यादा कस्टमर्स तक पहुंचेगी और उनसे कनेक्ट करने में आसानी होगी.

CAIT ने कहा- ट्रेडर्स का होगा फायदा

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि तेजी से विकसित हो रही व्यावसायिक जरूरतों के साथ टेक्नोलॉजी का साथ काफी अहम है. खंडेलवाल का मानना ​​है कि खुद को बेहतर बनाने के लिए सही एक्विपमेंट्स के साथ पूरे भारत के व्यापारी अपने बिजनेस को बढ़ाने के नए तरीके सीखकर फायदा उठा सकते हैं.

Meta ने कहा- इंडियन ट्रेडर्स की मदद करना चाहते हैं

इस दौरान मेटा के ग्लोबल अफेयर्स के प्रेसिडेंट निक क्लेग ने कहा, “यह भारत में एंटरप्रेन्योरशिप का युग है. भारत एक डिजिटल क्रांति का अनुभव कर रहा है, और जिस तरह से भारतीय एंटरप्रेन्योर्स और छोटे व्यवसायों ने वॉट्सऐप जैसी टेक्नोलॉजी को अपनाया है, वह इसका एक बड़ा हिस्सा है.”

उन्होंने आगे कहा कि हम उद्यमियों और छोटे बिजनेसमैन को आगे के मौकों का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने में मदद करना चाहते हैं और इंडिया के टेक जगत के दिल में बने रहना चाहते हैं.”

---Advertisement---