रात के अंधेरे में फाड़े गये बीजेपी के पोस्टर्स, भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में आक्रोश, भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

DESK : बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र का आज चौथा दिन है। आज भी सदन में जोरदार हंगामे के आसार हैं। इसकी एक बड़ी वजह है बीजेपी का गांधी मैदान से बिहार विधानसभा तक पैदल मार्च लेकिन उससे पहले एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि रात के अंधेरे में भाजपा द्वारा लगाए गये विधानसभा मार्च से संबंधित पोस्टर फाड़े गये हैं।

रात के अंधेरे में फाड़े गये बीजेपी के पोस्टर्स

बीजेपी के पोस्टर फाड़ने से संबंधित कई वीडियो और तस्वीरें भी सामने आने लगी हैं। इन वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि कुछ असमाजिक तत्व घूम-घूमकर चौक-चौराहों पर लगे बीजेपी के पोस्टर्स को फाड़ रहे हैं। ये सभी पोस्टर बीजेपी विधानसभा मार्च को लेकर पटना की सड़कों पर लगाए गये थे। इस घटना के बाद बीजेपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं में आक्रोश है।

इन मांगों को लेकर बीजेपी का विसमार्च

नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा देने, 10 लाख युवाओं को रोजगार देने, भ्रष्टाचार और लॉ एंड ऑर्डर सहित अन्य मांगों को लेकर भारतीय जनता पार्टी आज विधानसभा पैदल मार्च निकालेगी। ये पैदल मार्च पटना के गांधी मैदान से शुरू होकर बिहार विधानसभा तक पहुंचेगा। इस मार्च में बीजेपी के विधायक, विधान पार्षद, पदाधिकारी सहित कार्यकर्ता भी शामिल होंगे। नेताओं ने मार्च में अधिक से अधिक कार्यकर्ताओं को शामिल होने की अपील की है।

’10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देने का वादा निकला झूठा,’ सुशील मोदी ने साधा तेजस्वी यादव पर निशाना

सम्राट चौधरी ने भरी हुंकार

बीजेपी इस मार्च के जरिए नीतीश सरकार से 10 लाख लोगों को जॉब देने को लेकर सवाल पूछेगी। इस संबंध में बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा कि विधानसभा मार्च का मुद्दा स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि सरकार सालों से शिक्षक का काम कर रहे लोगों को फिर से एग्जाम देने के लिए बाध्य कर रही है। शिक्षा मंत्री बच्चों के टैलेंट पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

इसके साथ ही सम्राट चौधरी ने कहा कि अगुवानी पुल गिरा लेकिन किसी पर FIR दर्ज नहीं हुई। वहीं, पूर्व डिप्टी सीएम रेणु देवी ने कहा कि एक ओर कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री शिक्षक नेताओं से मिलेंगे और दूसरी तरफ विधानसभा के एक प्रश्न के उत्तर में कहा गया है कि पंचायत से नियुक्त शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा नहीं मिलेगा। गौरतलब है कि सुबह 11 बजे से शुरू होने वाला यह मार्च डांकबंगला चौराहा, कोतवाली, इनकम टैक्स गोलंबर, वीरचंद पटेल होते हुए विधानसभा तक जाएगा।

भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती

इधर, बीजेपी के विधानसभा मार्च को देखते हुए पटना के प्रमुख चौक-चौराहों पर पुलिस की बड़ी संख्या में तैनाती की गई है। बीजेपी के प्रदर्शन को देखते हुए पटना की सड़कों पर विशेष तैयारियों के साथ पुलिस को उतारा गया है। सड़कों पर तैनात किए गए पुलिस के जवान को विशेष हेलमेट, बॉडी प्रोटेक्टर जैकेट देकर उतारा गया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment