Patna Opposition Meeting: ‘नीतीश-लालू उसी के गोद में खेल रहे हैं जिन्होंने लगाया था आपातकाल’.. रवि शंकर प्रसाद

by Top Hindustan
0 comment

पटनाः बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार 23 जून को भाजपा विरोधी दल के नेताओं की बैठक हुई थी. लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए रणनीति तैयार करने के लिए विपक्षी दलों की बैठक बुलायी गयी थी. बैठक में 15 दल के नेताओं ने भाग लिया था. इस बैठक को लेकर बिहार की सियासत गरमा गयी. महागठबंधन और एनडीए के बीच बयानबाजी चलने लगे. महागठबंधन के नेता जहां सफल बता रहे हैं वहीं भाजपा बैठक को लेकर तंज कस रहे हैं.

“आज नीतीश हो या लालू उसी के गोद में खेल रहे है जिन्होंने आपातकाल लगाया था. जेपी आंदोलन में जिन्होंने कांग्रेस का विरोध किया था आज सत्ता के लोभ में सब कुछ भूल गए हैं, लेकिन जनता देख रही है. समय आने पर ऐसे लोगों को जनता ठीक से जवाब देना जानती है”रविशंकर प्रसाद, बीजेपी सांसद

विपक्षी एकजुटता की बैठक के बाद BJP सांसद रविशंकर प्रसाद ने शनिवार को कहा कि महागठबंधन के नेता दिवा स्वप्न देख रहे हैं. आपस में ही खींचतान चल रहा है और चले हैं मोदी जी से लड़ने. देश में 2024 में प्रधानमंत्री पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं है. उन्होंने कहा कि बहुमत की सरकार बनती है तो देश में क्या तरक्की होती है मोदी की अमेरिका यात्रा इस बात का सबूत है. दुनिया का सबसे बड़ा देश अमेरिका भी भारत को सम्मान के साथ देखता है.

राहुल के सामने नतमस्तक

वहीं जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के बयान पर रविशंकर प्रसाद ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जेपी मूवमेंट के सिपाही रहे हैं ललन सिंह. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जेपी आंदोलन से निकले नीतीश कुमार और ललन सिंह जैसे लोग आज राहुल गांधी के सामने नतमस्तक हैं.

आगे-आगे देखिये, होता है क्या

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अभी शुरुआत है आगे आगे देखिए क्या होता है. उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी ग्राम पंचायत चुनाव में कई उम्मीदवारों के नॉमिनेशन तक नहीं देने दे रही हैं, लेकिन किसी ने यह विषय नहीं उठाया. यह लोकतंत्र का हनन है. रविशंकर प्रसाद ने केरल में सीपीआई और सीपीएम के बीच बात बनने पर शंका जाहिर की.

You may also like

Leave a Comment