बरसात में किसानों की चमकी किस्मत, बदलाव के बाद 6000 की जगह खाते में आएंगे 12500 रुपये, जानें डिटेल

By Top Hindustan

Published on:

Follow Us
---Advertisement---

PM Kisan Scheme Update: किसानों की इनकम को बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकार भी जोरों शोरों से काम कर रही है। इसके लिए सरकार के द्वारा काफी बड़े फैसलों पर मुहर लगाई जा रही है। अगर आप किसान हैं तो आपके लिए काफी बड़ी खुशखबरी आ रही है। दरअसल किसानों की इनकम में काफी इजाफा होने वाला है। पीएम किसान स्कीम पीएम किसान योजना (PM Kisan Scheme) के बाद अब राज्य सरकार ने भी किसानों को 6500 रुपये देने का फैसला लिया है। यानि कि अब से किसानों को साल में 12500 रुपये का लाभ होगा, लेकिन मिलने वाले 6500 रुपये का लाभ कुछ ही किसानों को ही मिलेगा।

किस स्कीम के तहत मिलेगा पैसा

बता दें बिहार सरकार ने किसानों के लिए काफी फैसला लिया है। यदि राज्य सरकार ने किसानों की इनकम बढ़ाने के लिए प्रति एकड़ जमीन पर 6500 रुपये देने का फैसला किया है। ये पैसा किसानों को जैविक कोरिडोर योजना (Organic Corridor Scheme) के तहत मिलेगा।

20 हजार एकड़ में जैविक खेती करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके लिए किसानों को प्रोत्साहित करने और उनको आगे बढ़ाने के लिए प्रति एकड़ पर पैसा देने का फैसला लिया गया है।

वहीं सरकार ने ये भी कहा कि ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने काफी बड़ा फैसला लिया है। अगर आप इस साल या फिर अगले साल खेती करते हैं तो अधिकतम 2.5 एकड़ जमीन के लिए 6500 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से दिए जाएंगे। इसके अलावा किसानों को इसके लिए खास ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें- Free Ration Scheme: सरकार ने किया बड़ा ऐलान, अब मुफ्त राशन के साथ मिलेंगे ये फायदे, हो गई बल्ले-बल्ले!

चलेंगे 2 ट्रेनिंग प्रोग्राम

वहीं जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित करने के लिए राज्य स्तर पर 2 ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाने का खास फैसला लिया गया है। इसके अलावा राज्य सरकार प्रगतिशील किसानों को राज्य के बाहर भी विजिट करेगी। इसके अलावा स्वाइट टेस्ट, निबंधन, पैकेजिंग, ब्रांडिंग और लेबलिंग के लिए पैसा देगी।

किन शहरों कि जाएगी खेती

बता दें ऑर्गेनिक खेती के लिए बिहार के पटना, भोजपुर, बेगूसराय, लखीसराय, बक्सर, भागलपुर, मुंगेर, कटिहार, खगड़िया, समस्तीपुर, वैशाली और सारण में होगी। कृषि विभाग ने इसके बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि यदि स्कीम का लाभ उठाने के बाद भी किसान ऑर्गेनिक खेती नहीं करेंगे तो उन लोगों को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा।

---Advertisement---

Leave a Comment