जल्द ही सस्ते हो सकते हैं साबुन तेल मंजन, पैक में बिस्किट भी मिलेंगी ज्यादा, जानिए कंपनियों पर चढ़ा कौन सा जादू

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बीते साल से भीषण महंगाई का सामना कर रही आम जनता को जल्द ही राहत मिल सकती है। घटती बिक्री से परेशान फास्ट-मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMCG) कंपनियां अनाज और पामोलीन से लेकर कच्चे माल की कीमतों में आई गिरावट का लाभ अब आम लोगों के साथ बांटने की तैयारी कर रही हैं। बाजार के जानकारों के अनुसार कंपनियां एक ओर जहां साबुन तेल मंजन आदि की कीमतों में कटौती कर सकती हैं, वहीं बिस्किट आदि खाने पीने के सामान का वजन बढ़ाकर ग्राहकों को आकर्षित कर सकती हैं। बता दें कि खाने के सामान से लेकर लिपस्टिक को तैयार करने में पाम तेल का उपयोग होता है। जिसकी कीमतें पिछले कुछ महीनों में गिरी हैं।

घटती बिक्री से परेशान हैं कंपनियां

अंग्रेजी अखबार बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के अनुसार ​बीते साल से कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि के चलते FMCG कंपनियों की वॉल्यूम ग्रोथ में कमी झेल रही हैं। बीती कई तिमाहियों से हिंदुस्तान लीवर, डाबर, ब्रिटानिया और आईटीसी के तिमाही आंकड़ों में कंपनियों की घटती सेल्स साफ दिखाई पड़ रही है। कंपनियों के मु​ताबिक हाल के दिनों में तेल और अनाज की कीमतें कम होने के चलते उनके मार्जिन बढ़ रहे हैं और इसका फायदा आम लोगों को दिया जा सकता है।

बेहतर दिनों की उम्मीद 

नीलसनआईक्यू के आंकड़ों के अनुसार, पिछली छह तिमाहियों में नकारात्मक क्षेत्र में रहने के बाद, जनवरी-मार्च की अवधि में ग्रामीण मांग में वृद्धि (3.1% की वृद्धि) के कारण ऐसा हुआ है। एफएमसीजी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी पारले प्रोडक्ट्स ने अपने बड़े पैक्स की कीमतों में कटौती की है और कम कीमत वाले पैक्स में बिस्किट की संख्या बढ़ाई है।

कीमतें घटेंगी या वजन बढ़ेगा

कच्चे माल की कीमतों में गिरावट के चलते मुनाफे पर बैठी एफएमसीजी दो तरह से ग्राहकों को राहत दे सकती हैं। बाजार के जानकारों के अनुसार कुछ कंपनियां अपने प्रोडक्ट की कीमतों को सीधे तौर पर कम कर ग्राहकों को लाभ पहुंचा सकती हैं। वहीं फूड और बेवरेजेस से जुड़ी कंपनियां अपनी बिक्री बढ़ाने के लिए वजन बढ़ाकर ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित कर सकती हैं।

कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स पर भी राहत 

निकल और तांबा जैसी धातुओं की कीमत में वृद्धि के चलते पिछले साल इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों ने कई बार कीमतों में वृद्धि की थी। लेकिन इस साल सभी प्रमुख धातुओं की कीमतों में कमी देखी जा रही है। ऐसे में एयर कंडीशनर और फ्रिज जैसे बड़े अप्लायंसेस बनाने वाली कंपनियां इस बार कीमत में वृद्धि करने के मूड में नहीं हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि ग्राहकों को कीमत स्थिर रहने का लाभ मिल सकता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment