‘हां, मैंने देखी दिव्या पाहुजा की लाश’, बोल कर फंसी अभिजीत की दूसरी गर्लफ्रेंड

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दिव्या पाहुजा हत्याकांड में एक अहम मोड़ आया है. पहली बार गुरुग्राम पुलिस को एक ऐसा गवाह मिला है, जो इस वारदात के वक्त मौके पर था. यह गवाह मुख्य हत्यारोपी और दिव्या पाहुजा के बॉयफ्रेंड अभिजीत की दूसरी गर्लफ्रेंड है. मित्राऊं नजफगढ़ की रहने वाली इस लड़की को पुलिस ने अरेस्ट कर अदालत में पेश किया, जहां से आगे की पूछताछ के लिए उसे दो दिन के रिमांड पर भेजा गया है. इस लड़की से क्राइम ब्रांच की सेक्टर 17ए यूनिट पूछताछ कर रही है.

बता दें कि गैंगस्टर संदीप गाडौली की गर्लफ्रेंड दिव्या पाहुजा इन दिनों होटल कारोबारी अभिजीत के साथ डेट कर रही थी. नए साल का जश्न उसने अभिजीत के साथ ही मनाया, लेकिन दो जनवरी की दोपहर में उसकी हत्या हो गई. अभिजीत ने इस वारदात को अंजाम देने के बाद एक बीएमडब्ल्यू कार में उसका शव रखकर निकाल दिया था. इस घटना के 8 दिन बाद भी ना तो दिव्या के शव का कोई सुराग मिला है और ना ही होटल से शव गाड़ी में लेकर जाने वाले अभिजीत के मित्रों की कोई खबर मिली है.

वारदात के वक्त मौके पर थी मेघा

हालांकि पुलिस को इस बीच बड़ी सफलता हाथ लगी है. दरअसल पुलिस को अब ऐसा गवाह मिला है, जो ना केवल वारदात के वक्त मौके पर था, बल्कि वारदात के बाद सबूतों को मिटाने में आरोपियों की मदद भी किया. यह गवाह कोई और नहीं, खुद अभिजीत की दूसरी गर्लफ्रेंड मेघा है. मित्राऊं नजफगढ़ की रहने वाली मेघा भी नए साल का जश्न मनाने के लिए 31 दिसंबर को ही अभिजीत के होटल में आ गई थी. वह होटल के कमरा नंबर 114 में थी, जबकि दिव्या पाहुंजा कमरा नंबर 111 में थी.

आमने सामने की पूछताछ में खुलासा

पुलिस सूत्रों के मुताबिक क्राइम ब्रांच की टीम ने इस वारदात के संबंध में अभिजीत और मेघा से अकेले अकेले कई राउंड की पूछताछ की. इसके बाद दोनों को आमने सामने बैठाकर क्रास क्वेश्चन किए गए. इसमें घटना की सारी कड़ियां जुड़ती नजर आई तो पुलिस ने मेघा को अरेस्ट कर अदालत में पेश किया और आगे की पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक दिव्या पाहुजा मर्डर केस की जांच करते हुए पुलिस मेघा तक पहुंची ही थी कि उसने अपना बचाव करते हुए सरकारी गवाह बनने का प्रयास किया.

6 दिन बढ़ी अभिजीत की रिमांड

पूछताछ में जब पता चला कि मेघा वारदात के वक्त मौके पर थी और दिव्या की हत्या की साजिश में शामिल थी. इसके अलावा मेघा ने ही सबूतों को मिटाने में अभिजीत की मदद की और हथियार को भी उसने ही छिपाया है. इस खुलासे के बाद पुलिस ने उसे गवाह बनाने के बजाय आरोपी बनाया है. अब पुलिस ने कोर्ट में अभिजीत की कस्टडी रिमांड 6 दिन बढ़वाने के बाद दोनों की मदद से वारदात में इस्तेमाल हथियार तलाशने में जुट गई है.

8 दिन बाद भी नहीं मिला दिव्या का शव

पुलिस के मुताबिक वारदात के आठ दिन बाद भी दिव्या पाहुजा का शव नहीं मिला है. होटल से शव लेकर निकलने वाले अभिजीत के दोनों दोस्त भी अब तक हाथ नहीं लगे हैं. दरअसल यह दोनों बदमाश लगातार लोकेशन बदल रहे हैं और अब विदेश भागने की फिराक में हैं. इन बदमाशों ने दिव्या के शव के साथ पत्थर बांध कर घग्घर नदी में कहीं डाल दिया है. ऐसे में गुरुग्राम पुलिस ने पंजाब पुलिस के साथ मिलकर हर संभावित स्थानों पर शव की तलाश में गोताखोरों को उतारा है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment