APY: अटल पेंशन योजना का नहीं कोई तोड़, इन लोगों को अब हर महीना मिलेगी फाड़ू रकम

by Top Hindustan
0 comment

नई दिल्लीः हर कोई व्यक्ति अपने बुढ़ापे को लेकर चिंतित होता है कि वह कैसे समय बिताएंगे। अगर आप नौकरी पर लगे और रिटायमेंट के बाद की जिंदगी भी बढ़िया बनानी चाहते हैं तो फिर अब चिंता ना करें। हम आपको एक धाकड़ स्कीम के बारे में बताने जा रहे हैं, जो लोगों का दिल जीतने के लिए काफी है।

एक ऐसी स्कीम लेकर आए हैं, जो लोगों का दिल जीतने के काम कर रही है, जिससे आप अमीर बनने का ख्वाब पूरा कर सकते हैं। आप सोच रहे होंगे कि इस स्कीम का नाम क्या है, जिसे जानकर आपका दिल एकदम खुश हो जाएगा। वैसे तो सरकार लोगों के लिए कई जबरदस्त स्कीम चला रही है, लेकिन जिसके बारे में हम बताने जा रहे हैं यह हजारों में एक है। इस स्कीम से जुड़ने के लिए लोगों में उत्साह भी काफी दिख रहा है। स्कीम की डिटेल जानने के लिए आपको नीचे तक आर्टिकल पढ़ने की जरूरत होगी।

सरकार की यह स्कीम बना रही अमीर

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई अटल पेंशन योजना लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है, जिससे आप बिना देर किए आराम से जुड़ सकते हैं। स्कीम में अकाउंट ओपन कराकर जैसा निवेश करेंगे, ठीक वैसा ही पेंशन का फायदा प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आप अटल पेंशन योजना में 210 रुपये महीना का निवेश करते हैं तो फिर बुढ़ापे में जाकर मंथली 5,000 रुपये पेंशन के तौर पर दिए जाने संभव माने जा रहे हैं। अगर आपने तनिक भी देरी की तो फिर पछतावा करना होगा। इसलिए जरूरी है कि अप नीचे तक हमारा आर्टिकल पढ़कर जरूरी बातों को जान लें।

बरसात में बुजुर्गों का खिला चेहरा, अब हर महीना मिलेगी इतने हजार रुपये पेंशन कि उछड़ पड़े लोग

60 साल के बाद मिलेगी हर महीना पेंशन

अटल पेंशन योजना से जुड़ने के लिए सरकार ने कुछ मानक तय किए हैं। इसमें आप 18 से 40 के बीच जुड़ सकते हैं, जिसमें आपको अपने हिसाब से निवेश करना होगा। मतलब जितना अधिक निवेश करेंगे उतनी ही पेंशन का लाभ होगा। आप 18 साल से योजना में मंथली 42 रुपये का निवेश करें तो 60 साल के बाद हर महीना एक हजार रुपये पेंशन के तौर पर दिए जाएंगे।

आप हर महीना 84 रुपये का प्रीमियम भर रहे हैं तो हर महीना 2,000 रुयपे पेंशन के रूप में दिए जाएंगे। इतना ही नहीं अगर आप 210 रुपये का निवेश कर रहे हैं तो फिर हर महीना 5,000 रुपये पेंशन के तौर पर दिए जाने संभव माने जा रहे हैं।

You may also like

Leave a Comment