Vande Bharat: पीएम मोदी आज नौ वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी, इन शहरों को मिलेगी सौगात

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Vande Bharat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक साथ देश को नौ वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों की सौगात देंगे. पीएम मोदी रविवार को दक्षिण मध्य रेलवे (SCR) की दो सेवाओं समेत नौ वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे. जानकारी के मुताबिक, ये नई वंदे भारत ट्रेनें 11 राज्यों में कनेक्टिविटी को बढ़ाने का काम करेंगी. इन वंदे भारत ट्रेनों से पुरी, मदुरै और तिरुपति जैसे धार्मिक स्थलों के बीच की दूरी कम हो जाएगी. इन ट्रेनों के चलने से इन शहरों के बीच लगने वाला यात्रा समय काफी कम हो जाएगा.

नई ट्रेनें यात्रियों को विश्वस्तरीय अनुभव प्रदान करेंगी. साथ ही इनसे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा. एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये काचीगुडा-यशवंतपुर और विजयवाड़ा-एमजीआर चेन्नई सेंट्रल के मार्गों पर चलने वाली वंदे भारत ट्रेनों का उद्घाटन करेंगे. इस दौरान केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव भी कार्यक्रम में शामिल होंगे.

कहां-कहां चलेंगी नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें

आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों में से एक काचीगुडा-यशवंतपुर के बीच दौड़ेगी. इस रूट पर इस ट्रेन के चलते से कम समय में यात्रा की जा सकेगी. साथ ही दो शहरों के बीच की दूरी भी कम समय में पूरी होगी. जो इस रूट पर अब तक की सबसे तेज ट्रेन होगी. इसमें 530 यात्रियों की बैठने की क्षमता है. वहीं विजयवाड़ा- एमजीआर चेन्नई सेंट्रल के मार्ग पर भी एक नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाएगी. इस मार्ग पर भी ये सबसे तेज ट्रेन होगी. इसके अलावा, पश्चिम बंगाल को पटना-हावड़ा और रांची-हावड़ा मार्गों और हावड़ा-कोलकाता के जुड़वां शहरों के बीच दो और वंदे भारत ट्रेनों की सौगात मिलेगी.

बता दें कि उधर रेलवे ने पटना-झाझा, आसनसोल, बर्दवान, हावड़ा मुख्य मार्ग पर पटरियों को मजबूत करने के साथ ही पटना-हावड़ा मार्ग पर सेमी हाई-स्पीड ट्रेन संचालन की तैयारी शुरू कर दी है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 15 फरवरी, 2019 को नई दिल्ली और वाराणसी के बीच देश की पहली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. बता दें कि चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में निर्मित, ट्रेन सेट ‘मेक-इन-इंडिया’ पहल का प्रतीक है और भारत की इंजीनियरिंग कौशल को प्रदर्शित करता है. अधिकारियों के मुताबिक, पटना-हावड़ा और रांची-हावड़ा मार्गों के लिए नई रेक में 25 अतिरिक्त सुविधाएं शामिल की जाएंगी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment