Jan Aushadhi Kendra: सिर्फ 5000 रुपये में शुरु होता है ये बिजनेस, सरकार करती है मदद, खूब करेंगे कमाई

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Jan Aushadhi Kendra: मोदी सरकार लोगों को लाभान्वित करने के लिए नई -नई योजनाओं का संचालन कर रही है। इसमें केंद्र और राज्य सरकार दोनों मिलकर काम कर रही है। सरकार किसानों को आर्थिक रुप से मजबूत करने के लिए पीएम किसान स्कीम को चला रही है। वहीं लोगों को आत्मनिर्भर करने के लिए बिजनेस लोन भी दे रही है। अब केंद्र की मोदी सरकार इस दिशा में एक बड़ा ऐलान किया है। चलिए इसके बारे में डिटेल से जानते हैं।

आपको बता दें सरकार अपनी नई स्कीम की तरफ से 2,000 प्राथमिक कृषि ऋण समितियों को प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है। गृह मंत्री अमित शाह और उर्वरक मंत्री मनसुख मांडविया की बैठक में ये फैसला लिया गया है। बता दें इस साल अगस्त महीने तक तकरीबन 1 हजार जन औषधि केंद्र ओपन होंगे, जबकि बाकी के 1000 दिसंबर 2023 तक खोले जाएंगे।

सरकार अभी तक खोले है इतने सेंटर

जानकारी के अनुसार, पूरे देश में अभी तर 9400 से अधिक जन औषधि केंद्र खोले जा चुके हैं। इनके द्वारा लगभग 1800 दवाओं और 285 चिकित्सा उपकरणों की सेलिंग होती है। जन औषधि केंद्र पर मिलने वाली दवाइयां खुले मार्केट में मिलने वाली ब्रांडेड दवाओं से 50 फीसदी से लेकर 90 फीसदी तक कम कीमत में मिलती हैं।

फटाफट जानें जन औषधि केंद्र के फायदे

इस स्कीम से पैक्स की आय में तगड़ा इजाफा होगा।

इसके अलावा लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर मिलेंगे।

इसकी सबसे अच्छी बात ये होगी कि गांव के लोगों को कम कीमत में दवाइयां आसानी से मिल सकेगी।

आर्थिक रुप से कमजोर लोगों को ज्यादा से ज्यादा लाभ होगा।

Jan Aushadhi Kendra खोलने के लिए योग्यता

Jan Aushadhi Kendra खोलने के लिए 120 फिट की खुद की जमीन होनी चाहिए या फिर आप किराए में ले सकते हैं।

Jan Aushadhi Kendra ओपन कराने के लिए फॉर्मेंसिस्ट का प्रमा पत्र होना बेहद ही जरुरी है।

Jan Aushadhi Kendra के लिए कैसे करें आवेदन

अगर आप पीएम जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले  janaushadhi.gov.in/online_registration.aspx नाम की वेबसाइट पर विजिट करें। इसके लिए नॉन रिफंडेबल फीस के रूप में 5,000 रुपये जमा करने होंगे। जबकि महिला उद्यमियों, एससी, एसटी, दिव्यांग और नीति आयोग की तरफ से सूचित जिलों के लोगों से शुल्क नहीं लिया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment